दुर्गा चालीसा : महत्व ,नियम एवं सावधानियां | Durga chalisa in hindi

दुर्गा चालीसा : महत्व ,नियम एवं सावधानियां | Durga chalisa in hindi

durga chalisa in hindidurga chalisa in hindi

मित्रों .. प्रणाम , नमस्कार  … आज हम जानेंगे दुर्गा  चालीसा [ durga chalisa in hindi.] के विषय में  …   भारत   एक    लोकतंत्र   देश    है ।   जिसमे   कई   धर्मो   के   लोग   एक   साथ रहते  है  ।  जिसमे  सबसे  ज्यादा  लोग  हिन्दू  धर्म  के  रहते है ..   हिन्दू धर्म में ३३ करोड़ देवी – देवताओं को पूजा जाता है  .. उनमे  से  ही  एक देवी  है .. दुर्गा  माता  ..

दोस्तों  .. दुर्गा   माता   नौ  देवियो में   सबसे ज्यादा   पूजे  जाने  वाली   देवी  है  । जिनकी   पुरे  भारत वर्ष   में  मान्यता  है  .. दोस्तों ..  इस   आर्टिकल  में  हम आपको  बताने   जा  रहे  है ।  माता  दुर्गा  के  चालीसा  का  पाठ  करने  से  भक्तों  के जीवन  में  क्या बदलाव  आते   है ??  दुर्गा  चालीसा   किसे   कहते   है  ?? दुर्गा   चालीसा का  क्या  महत्त्व   होता   है  ?? और   दुर्गा चालीसा   का   पाठ  करने  का   सही  नियम क्या   है ??   और  पाठ   करते   समय   हमें   क्या  सावधानी   बरतनी चाहिए  ?? तो आइये सबसे पहले पढ़ते है Durga chalisa in hindi.

durga chalisa in hindi

दुर्गा चालीसा का महत्व ( Importance of Durga Chalisa in hindi )

दोस्तों  .. चैत्र   नवरात्रि  एक  बड़ा   त्यौहार  है ।   जिसे   पूरे भारत   में  उत्साह   और  उमंग   के साथ मनाया  जाता  है ।  नौ  दिन  तक  चलने  वाली  नवरात्री  में  मां  दुर्गा  के  अलग –  अलग  रूपों  की पूजा  कर  भक्त गण   माता  को  प्रसन्न  करते  हैं ।  लोग  कहते  हैं  मां  दुर्गा  भक्तों  के   दुख   को  दूर  कर   देती   हैं ।  ऐसे  में  नवरात्री  में  भक्त   दिनभर  खली   पेट  9   दिन  तक  व्रत  रखते  हैं  और  शाम  को  उनकी  आरती  उतार  उन्‍हें  भोग   लगाते  हैं ।  नवरात्री  में  आरती  के  साथ – साथ   दुर्गा चालीसा  का  भी  पाठ  करते  हैं ।  

दोस्तों

मां  दुर्गा   की   पूजा   उनके  चालीसा   के  बिना   अधूरी   मानी  जाती  है ।  नवरात्रों   में  दुर्गा चालीसा  का पाठ   करने   से  दुश्मनों   से  आजादी  ,  मन   की   मुराद   पूर्ति   सहित   अनेक मनोकामनाएं  सम्पूर्ण   हो  जाती  है ।  माता   दुर्गा   की   उत्पत्ति   ही   धर्म   की   रक्षा  और दुनिया   से  अंधकार  मिटाने   के   लिए   हुई ।  हमारे   शास्त्रों   के   अनुसार   नवरात्रि   या  किसी   भी   अन्य   शुभ   अवसर   पर   मां    दुर्गा   की   प्रार्थना    के   लिए   दुर्गा   चालीसा   का पाठ   करना   उत्तम   माना   गया   है ।  वहीं   9    दिन   का    व्रत   करने  वाले   भक्त   रोजाना दुर्गा   चालीसा  का  पाठ  करते  हैं ।  चलिए  जानते  हैं  दुर्गा  चालीसा पाठ करने   के क्या  फायदे होते  है  ?

[ 1 ] – नवरात्री    या   किसी   भी   शुभ   अवसर   पर   दुर्गा   चालीसा   का    पाठ    करने   से   लोगों    को   आध्यात्मिक  ,    भौतिक   और   भावनात्मक   खुशी   की   अनुभति   होती   है ।

[ 2 ] – दोस्तों    अगर  आप   अपने   भटके  हुए  मन   को   शांत   करना   चाहते   हैं   तो   रोजाना आपको   दुर्गा चालीसा    का   पाठ   करना   चाहिए   ।  बड़े – बड़े   ऋषि   मुनि    भी   मां   दुर्गा चालीसा   का   पाठ करते  थे ,  ताकी   वे   अपने   मन   को   शांत   रख   सकें ।

[ 3 ] – मित्रों   प्रतिदिन   दुर्गा   चालीसा   का   पाठ   करने  से   आपके   शरीर   में   पॉजिटिव   उर्जा आती है  ।  और   इसके   साथ   ही   शत्रुओं   से   निपटने   और   उन्हें    हराने   की   ताकत   भी आप  में विकसित   होती   है ।

[ 4 ] – मित्रों ..   दुर्गा   चालीसा   का   पाठ   करने   से   आप   अपने   करीबी   रिश्तेदार और   परिवार   जनों    को   वित्तीय   नुकसान ,  संकट   और   अलग – अलग   प्रकार   के   दुखों   से   बचा   सकते   हैं ।


[ 5 ] – मित्रों .. इसके   अलावा   आप   दुर्गा   चालीसा   से   जुनून ,  निराशा ,  आशा ,  वासना   और   बहुत  सी   अन्य    ऐसी    भावनाओं   का   सामना   करने   के   लिए   आप   अपने   अंदर   मानसिक शक्ति    भी    विकसित    कर    सकते   हैं ।

[ 6 ] – दुर्गा    चालीसा   का    पाठ   निरंतर   करने   से   अपनी    खोई   हुई   सामाजिक   स्थिति   को एक   फिर से   बापस   पा   सकते   हैं  ।   दोस्तों ..  लोग   कहते   हैं   मां   दुर्गा   की   मन   से पूजा   करने   से   आप   negative   बिचारों    से   दूर   रहेंगे  ।   साथ   ही     आपकी    उनके  प्रति    श्रद्धा  एवं  माता  की  कृपा  प्राप्त  करने   के  लिए   किये   गए आपके  प्रयास   से   खुश  होकर   मां   दुर्गा   आपको   धन ,  ज्ञान   और   समृद्धि     का     वरदान   देती   हैं  ।

अन्य ज्ञानवर्धक पोस्ट पढ़ें ..

श्री हनुमान चालीसा : महत्व , नियम एवं सावधानियां

व्रत : महत्व , नियम एवं भोजन 

दुर्गा   चालीसा   का   पाठ   कैसे   करें (  How to text Durga Chalisa in hindi ) , नियम  एवं  सावधानियां ( Rules  and  Precautions )

दोस्तों   .. दुर्गा   चालीसा   का   पाठ   हिन्दू   धर्म   के   हिसाब   से   करने   से   मां   देवी   दुर्गा का   भक्तों   को   विशेष   आशीष   प्राप्त   होता   है  ..  दोस्तों   माता   दुर्गा   को   हिन्दू   धर्म  में   सर्वशक्तिशाली   माना  गया   है ।  माता   दुर्गा  को   आदि   शक्ति   का   दर्जा    प्राप्त   है और दोस्तों माँ   दुर्गा   के   नौ   रूप   होते   हैं   जिनकी   पूजा   अर्चना   विशेष   रूप   से  नवरात्रि   के   अवसर   पर    की   जाती   है  ।

शारदीय   नवरात्रि   और   चैत्र   नवरात्रि   के  दौरान   हर   साल   देवी   के सभी   रूपों   की   श्रद्धा भाव   के  साथ  पूजा   अर्चना   करने   का  नियम   है ।  इसके   साथ   ही दोस्तों   माना   जाता है कि   दुर्गा   चालीसा     का   जाप लगातार   करने   से   माँ   दुर्गा   देवी   का आशीर्वाद  जीवन  में सदा   विद्यमान   रहता   है  । आज   इस  लेख  के  जरिये  मैं   आपको  दुर्गा चालीसा  पाठ से सम्बन्धित   सभी   महत्वपूर्ण   तथ्यों   के  बारे   में   विस्तार   से   बताने   जा    रहा  हु  ।   दोस्तों   चलिए  जानते    हैं   दुर्गा चालीसा   से   जुड़े   कुछ   महत्वपूर्ण  तथ्यों   के   बारे   में ।

दुर्गा  चालीसा   का  पाठ  अधिकतर लोग   अपनी   क्षमता  और   श्रद्धा   के   अनुसार   ही करते   हैं लेकिन   यदि   इसका   जाप   सही विधि   एवं   नियम   पूर्वक  किया   जाए   तो इससे   माता  दुर्गा   का ख़ास   आशीर्वाद  आपको   प्राप्त   हो   जाता   है  ।  ज्योतिष   विशेषज्ञों   एवं  विद्वानों   द्वारा   दुर्गा चालीसा  पाठ   के   कुछ   विशेष  नियमों   के   बारे   में   निम्न   प्रकार   से   बताया   गया   है :-

  • दुर्गा   चालीसा   का   पाठ   करने   से  पहले  सूर्योदय   से  पूर्ब   स्नान   करके  साफ़  सुथरे  कपडे पहनें  ।
  • एक   लकड़ी   की   चौकी   पर   लाल   रंग   का   कपड़ा   बिछा कर ,  उस   पर   माता   दुर्गा   की मूर्ति   रखें ।
  •  इसके   बाद   माता   दुर्गा   की   फूल ,  रोली ,  धूप ,  दीप   इत्यादि   से   पूजा   अर्चना   सच्चे   मन से   करें ।
  • पूजा   के   दौरान   दुर्गा   यंत्र   का   प्रयोग   आपके   लिए   लाभकारी   सिद्ध    हो   सकता   है ।
  • अब   इस  बिधि   को   सम्पूर्ण   करने   के   बाद    दुर्गा  चालीसा   का   पाठ   शुरू   करें ।

निष्कर्ष (Conclusion)

मित्रगणों   ..   इस   आर्टिकल  /  लेख   में   आपने   विस्तार   से   जाना   परिचय  ,
, चालीसा   किसे   कहते   है   ,   दुर्गा  चालीसा  [  durga chalisa in hindi  ]  का   महत्व  ,
पाठ   कैसे   करें  ,  नियम   एवं   सावधानियां  .. ।   उम्मीद   करता   हु   जानकारी   आपको   पसंद   आयी   होगी   यदि   आपको   कोई   शिकायत   या  सुझाव   हो   तो   कृपया   हमें   अवगत   कराएं .. ।

Written by
Prateek
Join the discussion

Share via
Copy link